एक तरफ जहां मंगलवार को लीड्स में इंग्लैंड को आईसीसी रैंकिंग में 8वें नंबर की टीम वेस्टइंडीज ने धूल चटाई. वहीं दूसरी ओर बुधवार को टेस्ट क्रिकेट में मजबूत मानी जाने वाली ऑस्ट्रेलिया की टीम को बांग्लादेश ने शिकस्त देकर इतिहास रच दिया है. ये एक संयोग ही हो सकता है जब दो दिन में टेस्ट क्रिकेट की सुपरपावर मानी जाने वाली टीमों को आईसीसी रैंकिंग में 8वें और 9वें नंबर की टीमों से शिकस्त मिली है.

इंग्लैंड के लीड्स मैदान पर मंगलवार को इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच चल रही टेस्ट सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच को वेस्टइंडीज ने 5 विकेट से जीत लिया. वेस्टइंडीज ने 17 साल बाद इंग्लैंड को उसकी धरती पर कोई टेस्ट मैच हराया. इसी के साथ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर हैं.

वेस्टइंडीज की तरफ से बल्लेबाज शाई होप इस एतिहासिक जीत के हीरो रहे. उन्होंने दोनों पारियों में शतक लगाया. पहली पारी में 147 रन बनाने वाले शाई होप ने दूसरी पारी में भी नाबाद 118 रन बनाए. वेस्टइंडीज को मैच की चौथी पारी में जीत के लिए 322 रन का लक्ष्य मिला था, जिसे उसने पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया. आपको बता दें कि इससे पहले आखिरी बार 2000 के बर्मिंघम टेस्ट में जिमी एडम्स की कप्तानी में वेस्टइंडीज की टीम ने इंग्लैंड को उसी की धरती पर मात दी थी.

बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ढाका में खेले गए दो मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट जीतकर 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है. बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया को 20 रनों से हराया. बांग्लादेश की इस जीत के हीरो रहे शाकिब अल हसन, जिन्होंने मैच में 10 विकेट झटके और 89 रन भी बनाए. ये पहला मौका है जब बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट में हराया है. इससे पहले बांग्लादेश ने टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ जिंबाब्वे, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड को ही शिकस्त दी थी. टेस्ट क्रिकेट में बांग्लादेश से हारने वाला ऑस्ट्रेलिया चौथा देश बन गया. दरअसल, 2000 में बांग्लादेश को टेस्ट का दर्जा मिला था, इसके बाद से इन 17 सालों में पहली बार बांग्लादेश ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में जीत हासिल की है.